वास्कोडिगामा एक्सप्रेस के 13 डिब्बे पटरी से उतरे, हादसे में 3 की मौत, 11 लोग घायल

शुक्रवार को वास्कोडिगामा पटना एक्सप्रेस (12741) दुर्घटनाग्रस्त हो गई. ये दुर्घटना सुबह करीब 4 बजकर 22 मिनट पर चित्रकूट के पास मानिकपुर स्टेशन के एडवांस सिग्नल पर हुआ. ट्रेन गोवा से पटना की ओर जा रही थी. खबर के अनुसार दुर्घटना में ट्रेन के 13 डिब्बे पटरी से उतर गए हैं. इस दुर्घटना में 3 लोगों की मौत हो गई, वहीं तकरीबन 11 लोग घायल हो गए हैं.

इस हादसे में वास्कोडिगामा-पटना एक्सप्रेस के S-3 से S-11 तक के डिब्बे, 2 जनरल कोच और 2 एक्स्ट्रा कोच बेपटरी हुए हैं. हादसे में सभी घायलों को मानिकपुर स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है. रेल मंत्रालय ने इस ट्रैन हादसे का शिकार हुए सभी मृतकों को 5 लाख रुपये तथा गंभीर रूप से घायलों को 1 लाख रुपये और घायलों को 50 हजार रुपये देने की घोषणा की है. रेलवे के पीआरओ अनिल सक्सेना ने कहा, हमने एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है. वहां राहत कार्य जारी है.

हादसे के बाद राहत कार्य की जिम्मेदारी एडीजी एलओ आनंद कुमार ने संभाली. उनके मुताबिक 45 मिनट के अंदर ही लोगों को डिब्बों से बाहर निकाल लिया गया. सभी घायलों को डायल 100 की गाड़ी से अस्पताल पहुंचाया गया. हादसे की वजह साफ नहीं हो पाई है. रेलवे के साथ एटीएस की टीम मौके पर पहुंच गई है. वहीं, सतना से एक आपातकालीन ट्रेन वहां के लिए रवाना हो गई है. इलाहाबाद मंडल के जीएम, डीआरएम समेत अन्य अधिकारी मौके के लिए रवाना हो गए हैं.

फिलहाल ट्रेन हादसे में प्रभावित डिब्बों को छोड़कर बाकी बचे 7 डिब्बों के साथ ट्रेन को आगे रवाना किया गया है. वहीं अन्य यात्रियों के लिए एक स्पेशल ट्रेन की भी व्यवस्था की गई है. कुछ यात्रियों को सड़क मार्ग से भी भेजा गया है.

इस ट्रेन हादसे में दीपक पटेल पुत्र स्वरूप पटेल और उसके पिता स्वरूप पटेल पुत्र देवधारी की मौके पर ही मौत हो गई. वे बेतिया बिहार के रहने वाले थे. अभी तक 11 लोगों के घायल होने की सूचना है, जिसमें दो की हालत गंभीर बनी हुई है. स्थिति को देखते हुए उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. एसपी जीआरपी झांसी और एसपी चित्रकूट मामले की जांच कर रहे हैं.