अगर अपने अब तक मोबाइल नंबर आधार से लिंक नहीं कराया है तो जल्दी करे, 6 फरवरी 2018 तक है मौका

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए कहा है कि मोबाइल को आधार से लिंक करना अनिवार्य है. इसके लिए केंद्र सरकार ने कोर्ट में बाकायदा एफिडेटिव दायर किया है. जिसमें सरकार ने कोर्ट के फैसले का जिक्र किया है. अपनी इस योजना को लेकर केंद्र सरकार काफी गंभीर नजर आ रही है. इस एफिडेटिव में कहा गया है कि मोबाइल यूजर्स को ई-केवाईसी वेरिफिकेशन के तहत 6 फरवरी 2018 तक अपना फोन आधार के साथ लिंक कराना अनिवार्य है.

केंद्र ने गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में एफिडेटिव दायर कर कहा है कि अब मोबाइल फोन धारकों को 6 फरवरी तक अपना फोन आधार के साथ लिंक करवाना जरूरी होगा. सरकार की कोशिश इस दिशा में सुप्रीम कोर्ट से आदेश पारित करवाने की है. मोबाइल नंबर को आधार से लिंक नहीं करने वाले लोगों का नंबर इस तारीख के बाद बंद हो जाएगा और उन्हें नंबर से संपर्क करने में काफी मुश्‍क‍िल पैदा हो सकती है.

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए कहा है कि मोबाइल को आधार से लिंक करना अनिवार्य है. इसके लिए केंद्र सरकार ने कोर्ट में बाकायदा एफिडेटिव दायर किया है. जिसमें सरकार ने कोर्ट के फैसले का जिक्र किया है. एफिडेविट में केंद्र सरकार ने कहा है कि मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करने की आखिरी तारीख भी तय है. केंद्र ने बताया कि सभी मोबाइल सब्सक्राइबर्स को अगले साल 6 फरवरी तक अपना नंबर आधार से लिंक करना अनिवार्य है.

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने मोबाइल फोन को आधार से अनिवार्य रूप से लिंक करने की योजना के खिलाफ सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट की दो सदस्यीय बेंच ने सरकार से 4 सप्ताह में जवाब मांगा था. कोर्ट की संवैधानिक बेंच आधार से जुड़ी ऐसी कई याचिकाओं पर सुनवाई करेगी जिसमें इसकी अनिवार्यता को ‘निजता के अधिकार’ का हनन बताया गया है.

अगर आपने अभी तक मोबाइल नंबर आधार कार्ड से लिंक नहीं किया है, तो आप इसे आसानी से घर बैठे कर सकते हैं. इसके लिए केंद्र सरकार ने तीन तरीके बताए हैं. इसमें एक, वन टाइम पासवर्ड के जरिये लिंक करने का विकल्प है. दूसरा, आईवीआरएस के जरिये लिंक किया जा सकता है और तीसरा खुद टेलिकॉम ऑपरेटर का एजेंट आपके घर आएगा, वह मोबाइल को आधार से लिंक कर देगा.