प्रद्युमन हत्याकांड : पुलिस ने नाकामी छुपाने के लिए बस कंडक्टर को बनाया बलि का बकरा, असली आरोपी 11वीं क्लास का छात्र, साथियो को कहा था परीक्षाऐं नहीं होंगी तैयारी ना करें

गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्कूल में 8 सितंबर को प्रद्युम्न नाम के छात्र की हत्या कर दी गई थी. इस मामले में सीबीआई ने स्कूल के ही 11वीं क्लास के छात्र को गिरफ्तार किया है. सीबीआई सूत्रों के मुताबिक, इस केस में गिरफ्तार किए गए आरोपी बस कंडक्टर से जब पूछताछ की गई, तो उसने बताया कि हरियाणा पुलिस ने इस बात के लिए मजबूर किया कि वो इस जुर्म को स्वीकार कर ले.

गुरुग्राम के रेयान स्कूल में हुए प्रद्युम्न मर्डर केस में सीबीआई द्वारा 11वीं के छात्र की गिरफ्तारी के बाद बेहद सनसनीखेज खुलासा हुआ है. सीबीआई की माने तो हरियाणा पुलिस ने जबरदस्ती कर बस कंडक्टर अशोक कुमार को जुर्म कबूल करने के लिए मजबूर किया था. सीबीआई ने पुलिस पर आरोप लगाया कि अशोक कुमार से सादे कागज पर दस्तख्त भी ले लिए गए थे. उसने दबाव में आकर मीडिया में भी बयान दे दिया था.

सीबीआई ने ऑफ द कैमरा बयान देते हुए कहा है कि परीक्षा टालने और पेरेंट्स-टीचर मीटिंग स्थगित कराने के उद्देश्य से11वीं के स्टूडेंट ने हत्या की. सीबीआई ने साइंटिफिक एविडेंस के आधार पर आरोपी स्टूडेंट को रात 11.20 पर हिरासत में लिया है. सीबीआई से जुड़े सूत्रों के मुताबिक छात्र पढ़ाई में कमजोर था. बता दें कि यह वहीं छात्र है जिसने स्कूल प्रबंधन को हत्या की सूचना दी थी. इससे पूर्व भी इस छात्र से सीबीआई 4 बार पूछताछ कर चुकी थी. इसके साथ ही सीबीआई ने हरियाणा पुलिस द्वारा आरोपी बनाये गए बस कंडक्टर को क्लीनचिट दे दी है.

गौरतलब है कि सीबीआई ने हरियाणा पुलिस की थ्योरी को पलटते हुए रेयान स्कूल के ही 11वीं छात्र को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है. सीबीआई के अनुसार इस छात्र ने एग्जाम पोस्टपोन कराने तथा स्कूल बंद कराने के मकसद से इस हत्याकांड को अंजाम दिया है. वहीं, छात्र के पिता का कहना है कि मेरे बेटे को सीबीआई फंसा रही है, मेरे बेटे ने मामले में सीबीआई की पूरी मदद की है.

सीबीआई का कहना है कि सीसीटीवी में आरोपी चाकू ले जाते दिखाई दिया है. इस छात्र ने ही चाकू से गला काटकर प्रद्युमन की हत्या की. आरोपी ने दोस्तों से कहा था कि वे परीक्षा की तैयारी न करें, क्योंकि स्कूल में छुट्टी होने वाली है. आरोपी छात्र के पिता ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि उनके बेटे को क्यों गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा कि वह प्रद्युम्न को नहीं जानते थे. वह अपने बेटे की अंतरिम जमानत के लिए कोर्ट जाने की तैयारी कर रहे हैं.