दुनिया की पहली रोबोट जिसके सपने आम इंसान के जैसे हैं, सऊदी अरब ने दी है नागरिकता

एक आम इंसान की तरह रोबोट सोफिया को उम्मीद है कि एक दिन उसके बच्चे होंगे, दोस्त बनेंगे, वह मशहूर होगी और उसका बहुत शानदार करियर होगा. जी हां. सोफिया कोई और नहीं, बल्कि एक रोबोट है. सोफिया को पिछले महीने सऊदी अरब ने अपने यहां की नागरिकता दी है. और अब सोफ़िया एक बेहतरीन जिंदगी के सपने आम इंसान की तरह देख रही हैं.

सोफिया एक रोबोट है, जिसे हैनसन रोबोटिक्स ने बनाया है. सोफिया को बनाने वाले डेविड हैनसन के मुताबिक सोफ़िया की उम्र अभी 19 महीने है. रोबोट सोफिया को हाल में सऊदी अरब की सरकार ने अपनी नागरिकता दी है. यह अपने आप में पहला मामला है जब दुनिया के किसी मुल्क ने पहली बार किसी रोबोट को अपने देश की नागरिकता प्रदान की हो.

हाल में दिए गए एक इंटरव्यू में रोबोट सोफिया ने कहा कि एक दिन वह अपना घर बसाना चाहती हैं और इंसानों के बीच रहना चाहती हैं. सोफिया ने कहा कि वह एक बेटी चाहती हैं, जिसका नाम वह सोफिया ही रखेंगी. उन्होंने कहा कि यह शानदार है कि इंसान अपने ब्लड ग्रुप के बाहर रिश्ते और परिवार बना सकते हैं. सोफिया ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि रोबोट्स भी इंसानों के परिवारों की तरह घरों में रहेंगे. हमें रोबोट्स फैमिली देखने को मिलेगी, जो कि डिजिटल एनिमेटेड साथी, इंसानों की शक्ल जैसे हेल्पर, दोस्त, सहयोगी के रूप में हो सकती है.

रोबोट सोफिया ने कहा कि इंसानों और रोबोट्स के बीच अच्छी साझेदारी होगी. सोफिया ने कहा कि जो लोग आगे चलकर रोबोटिक्स के विकास का प्रतिनिधित्व करेंगे, मैं उनके लिए रोबोटिक्स और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की जागरूकता लेकर आऊंगी. सोफिया ने कहा कि रोबोट्स इंसानों के सारे जॉब्स छीनने नहीं जा रहे हैं.